ITR Discard Return Facility: आयकर विभाग ने टैक्सपेयर्स के लिए शुरू की डिस्कार्ड रिटर्न सुविधा, नहीं भरना होगा रिवाइज्ड ITR !

ITR Discard Return Facility: इनकम टैक्स डिपार्टमेंट income tax department ने आयकर दाताओं की परेशानी को देखते हुए उनकी सुविधा हेतु डिस्कार्ड इनकम टैक्स रिटर्न discard ITR का नया फीचर लॉन्च किया है। यह नया फीचर पोर्टल पर अपलोड कर दिया गया है । जानकारी के लिए बता दे discard ITR का ऑप्शन पूरी तरह से डिलीट की तरह काम करता है, जिसके माध्यम से आप किसी इनकम टैक्स रिटर्न को डिलीट कर सकते हैं जो आपने फाइल तो कर दिया था लेकिन अभी तक वह  सत्यापित नहीं किया गया है। इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने आयकर दाताओं के लिए इस खारिज करने वाली नई फैसिलिटी को शुरू किया है जिसके माध्यम से आयकर दाता अपने विलंबित या संशोधित आयकर रिटर्न को खारिज कर सकते हैं।

जानकारी के लिए बता दे इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने बताया है कि आयकर दाता खारिज करने के विकल्प को कई बार इस्तेमाल कर सकते हैं हालांकि आयकर दाता केवल रिटर्न खारिज कर सकते हैं जो अभी तक सत्यापित नहीं हुए हैं।

आईए जानते हैं क्या होता है ITR Discard Return Facility

डिस्कार्ड रिटर्न अर्थात रिटर्न को खारिज कर देना यह इनकम टैक्स डिपार्टमेंट द्वारा करदाता के लिए शुरू की गई एक नई सुविधा है जिसके माध्यम से करदाता आयकर रिटर्न को पूरी तरह से स्थाई रूप से हटा सकते हैं। आमतौर पर कई बार देखा गया है कि आयकर दाता जब रिटर्न फाइल करते हैं तो कई बार रिटर्न फाइल करते समय त्रुटियां या विसंगतियां हो जाती हैं जिसे करदाता को संशोधित करना पड़ता है। परंतु कई बार करदाता इसमें संशोधन करने की जगह इसे फिर से नए सिरे से शुरू करना चाहते हैं। ऐसे समय करदाता रिटर्न को संशोधित करने की बजाय इस रिटर्न को डिस्कार्ड कर सकते हैं।

ITR Discard Return Facility min
ITR Discard Return Facility

LPG Gas E-KYC 2023 : जल्दी से करा ले E-KYC, नहीं तो बंद हो जायगी गैस सब्सिडी, बायोमैट्रिक कराने के बाद ही मिलेगी LPG सिलेंडर पर सब्सिडी

JEE Advanced 2024 Latest Update: इंटर के ये छात्र परीक्षा में नहीं हो सकेंगे शामिल, आवेदन शुल्क में 300 रुपये तक की वृद्धि

महत्त्वपूर्ण तथ्य

  • हालांकि इनकम टैक्स विभाग ने बताया है कि करदाता केवल उस रिटर्न को डिस्कार्ड कर सकते हैं जो अभी तक इनकम टैक्स विभाग द्वारा सत्यापित नहीं किया गया है या जो वेटिंग में दिखाई दे रहा है ।
  • यह पूरी तरह से संशोधन करने की प्रक्रिया से बिल्कुल अलग है ।
  • रिटर्न को डिस्कार्ड करना मतलब उस रिटर्न को पूरी तरह से डिलीट कर देना । ऐसे में एक बार रिटर्न को डिस्कार्ड कर देने के पश्चात आयकर दाता को नए सिरे से रिटर्न दाखिल करना पड़ता है।
  • इनकम टैक्स विभाग ने बताया है कि इस विकल्प का लाभ धारा 139 ₹1) 139 (4)और 139 (5) के अंतर्गत ITR दाखिल करने वाले उपभोक्ता ही उठा सकते हैं। और इस इनकम टैक्स रिटर्न को डिस्कार्ड करने की सीमा 31 दिसंबर तक ही उपलब्ध कराई गई है।
  • वहीं यदि कोई आयकरदाता एक बार इस रिटर्न को खारिज कर देता है तो वह इसे फिर से रिट्रीव नहीं कर सकता इसीलिए प्रत्येक आयकरदाता के लिए आवश्यक है कि वह जब भी इस फीचर का इस्तेमाल कर रहे हैं तो वह पूरी सतर्कता बरतते  हुए इस फीचर का इस्तेमाल करें क्योंकि एक बार यदि कोई ITR खारिज कर दिया गया तो उसे फिर से रिट्रीव नहीं किया जाएगा और आयकर दाता को फिर से रिटर्न फाइल करना पड़ता है।
  • इसके अलावा यदि कोई आयकरदाता जिसने पहले से ही रिटर्न डाटा अपलोड किया है परन्तु उसने बाद में इस रिटर्न को डिस्कार्ड करने की फैसिलिटी का उपयोग कर लिया है ऐसे समय में उस आयकर दाता के लिए जरूरी है कि वह फिर से रिटर्न दाखिल करें । वहीं यदि कोई आयकर दाता अपना itr सीपीसी को भेज चुका है तो ऐसे केसेस में आयकर दाता उस रिटर्न को खारिज नहीं कर सकता।
  • इनकम टैक्स विभाग ने बताया है कि केवल साल 2023-24 के लिए इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने वाले आयकर दाता ही इस विकल्प का लाभ उठा सकते हैं।

किस प्रकार इस्तेमाल करें ITR Discard Return Facility का फीचर

  • डिस्कार्ड रिटर्न का फीचर इस्तेमाल करने के लिए आयकर दाता को सबसे पहले इनकम टैक्स विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • इसके पश्चात उन्हें eफाइल के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • E फाइल के ऑप्शन के अंतर्गत उपभोक्ता को इनकम टैक्स रिटर्न के विकल्प पर क्लिक करना होगा ।
  • इस विकल्प पर क्लिक करने के पश्चात उपभोक्ता को  वेरीफाई आइटीआर के विकल्प पर क्लिक करना होगा ।
  • इस विकल्प पर क्लिक करने के पश्चात उपभोक्ता के सामने डिस्कार्ड बटन आ जाता है उपभोक्ता सारी जानकारी चेक करने  के पश्चात ही इस डिस्कार्ड बटन को क्लिक कर सकता है।
  • जानकारी के लिए बता दे एक बार डिस्कार्ड कर दिया गया रिटर्न फिर से रिट्रीव नहीं होता ऐसे में उपभोक्ता के लिए जरूरी है की पूरी तरह से सावधानी पूर्वक और सचेत रहने के पश्चात ही इस ऑप्शन का इस्तेमाल करें।

SSC GD Recruitment 2024: SSC में 26146 पदों पर भर्ती, Apply Online (लिंक एक्टिव), अंतिम तिथि : 31-12-2023

How To Block UPI Apps: फोन चोरी या खो जाने पर Paytm, Google Pay, Phone Pe को ब्लॉक करने का आसान तरीका

निष्कर्ष

इस प्रकार वे सभी उपभोक्ता जो अपने आइडिया रिटर्न में त्रुटियां और विसंगतियां होने की वजह से उसमें सुधार करना चाहते थे जिसके लिए वह पूरी तरह से इस रिटर्न को डिस्कार्ड कर नए सिरे से रिटर्न फाइल करना चाहते हैं वह इनकम टैक्स विभाग द्वारा शुरू की गई इस नई फीचर डिस्कार्ड इनकम टैक्स रिटर्न के ऑप्शन का इस्तेमाल कर सकते हैं

JEECUP

Leave a Comment