NMC NEET UG 2024 Eligibility: अब 12वीं में Math पढ़ने वाले भी दे सकेंगे नीट परीक्षा [NEET Without Biology]

NMC NEET UG 2024 Eligibility: नेशनल मेडिकल काउंसिल NMC  ने हाल ही में  एक नई गाइडलाइन जारी की है जिसमें उन्होंने बताया है कि अब डॉक्टर बनने के लिए 12वीं में बायोलॉजी की पढ़ाई जरूरी नहीं। वह बच्चे जो 11वीं और 12वीं में मैथमेटिक्स की पढ़ाई कर रहे हैं वह भी मेडिकल कोर्स के लिए आवेदन कर सकते हैं और डॉक्टर बनने की कोशिश जारी रख सकते हैं। जी हां, इसके पहले तक मेडिकल फील्ड (NEET UG 2024 Eligibility) में आने के लिए यह जरूरी होता था कि अभ्यर्थी बायोलॉजी का छात्र होना आवश्यक है। वहीं मैथ्स स्ट्रीम को चुनने वाले छात्रों को इंजीनियरिंग का विकल्प दिया जाता था । परंतु National Medical Council ने अब नई गाइडलाइन (NEET UG 2024 New guidelines) जारी कर दी है जिसमें अब डॉक्टर बनने के लिए बायोलॉजी की पढ़ाई करना आवश्यक नहीं होगा।

NEET UG 2024 Eligibility: डॉक्टर बनने के लिए 12वीं में बायोलॉजी जरूरी नहीं

जैसा कि हमने आपको बताया National Medical Council ने एक नई गाइडलाइन जारी की है जिसमें उन्होंने बताया है कि अब मैथ्स के स्टूडेंट भी NEET UG की परीक्षा में शामिल हो सकेंगे। नेशनल मेडिकल काउंसिल द्वारा जारी की गई यह गाइडलाइन (NEET UG 2024 Eligibility New guidelines) मैथमेटिक्स को विकल्प चुनने वाले छात्रों के लिए काफी राहत बड़ी खबर साबित हो सकती है। वह सभी छात्र जो pcm से 12वीं की परीक्षा दे रहे हैं वह अब मेडिकल की परीक्षा भी दे सकेंगे । हालांकि ऐसे छात्रों को एडीशनल सब्जेक्ट के तौर पर biotechnology की परीक्षा देनी होगी।

Mbbs bds में मिलेगा दाखिला

नेशनल मेडिकल काउंसिल ने अपने नए नोटिस में बताया है कि वे सभी छात्र जो फिजिक्स केमिस्ट्री और मैथ्स को चुनकर 12वीं की पढ़ाई कर रहे हैं वह छात्र बायोटेक्नोलॉजी के एडिशनल पेपर के साथ-साथ NEET UG की परीक्षा में बैठने के पात्र होंगे । वह सभी छात्र नीट की परीक्षा देकर एमबीबीएस और बीडीएस कोर्सेज में दाखिला ले सकते हैं।

Pcm के साथ बायोटेक्नोलॉजी चुनकर दे पाएंगे NEET

नेशनल मेडिकल काउंसलिंग ने अपने नोटिस में यह भी बताया है कि ऐसे उम्मीदवारों को अब मेडिकल काउंसलिंग एलिजिबिलिटी सर्टिफिकेट भी देगा । इस एलिजिबिलिटी सर्टिफिकेट के माध्यम से ऐसे छात्र विदेश में भी मेडिकल कोर्सेज में दाखिला प्राप्त कर सकते हैं। हालांकि इससे पहले एमबीबीएस और बीडीएस में एडमिशन लेने के लिए 11वीं और 12वीं कक्षा में फिजिक्स केमिस्ट्री और बायोलॉजी होना अनिवार्य होता था परंतु अब इस नए नोटिस के आने के पश्चात फिजिक्स, केमेस्ट्री, मैथमेटिक्स के साथ-साथ छात्र biotechnology को एडीशनल सब्जेक्ट चुनकर मेडिकल फील्ड में अपना हाथ आजमा सकते हैं। हालांकि रेगुलर या ओपन लर्निंग मोड़ के स्टूडेंट इस नई सुविधा का लाभ नहीं उठा पाएंगे।

NEET UG 2024 Registration, Exam Date (Out), Eligibility, Application & Latest Updates @neet.nta.nic.in

NTA Exam Calendar 2024 [एनटीए एक्जाम कैलेंडर] CUET, NET, NEET, JEE and Other Exam Date and Schedule

NEET UG exam 2024 NMC released new guidelines

मेडिकल काउंसलिंग ने बताया है कि इस नए फैसले को छात्रों की सुविधा को देखते हुए लागू किया गया है जिसमें छात्रों को मेडिकल फील्ड में करियर बनाने का मौका दिया जाएगा। वे सभी छात्र जो 12वीं में मेथ्स से पढ़ाई करना चाहते हैं परंतु साथ ही साथ में मेडिकल में अपना कैरियर बनाना चाहते हैं उन सभी के लिए इस नए रास्ते के खुल जाने से काफी सारे करियर ऑप्शंस खुल जाएंगे।

साथ ही साथ इस नए नियम को लागू करने की बात पर नेशनल मेडिकल काउंसलिंग ने बताया है कि यह नियम अगले एकेडमिक सेशन से लागू किया जाएगा।व हालांकि 14 जून 2023 को ही इन नियमों पर विचार विमर्श कर लिया गया था परंतु फिर भी इन्हें लागू करने में थोड़ा और समय लगेगा । नई एजुकेशन पॉलिसी के अंतर्गत कई सारे नियमों में बदलाव भी किए गए हैं। अब छात्र आसानी से  neet ug में शामिल हो सकते हैं वहीं विदेश में मेडिकल की पढ़ाई के लिए भी आवेदन कर सकते हैं । वहीं साथ ही साथ nmc ने बताया है कि भविष्य में  नेशनल मेडिकल काउंसिल छात्रों के लिए और कई सारी सुविधा लागू करने वाली है जिससे छात्रों को बेहतर करियर ऑप्शंस मिल सके और बेहतर विकल्प प्राप्त हो।

निष्कर्ष: NMC NEET UG 2024 Eligibility

कुल मिलाकर नेशनल मेडिकल काउंसिल जल्द ही छात्रों की सुविधा को देखते हुए कई महत्वपूर्ण निर्णय लेने वाला है। वहीं अगले एकेडमिक सेशन से मैथ्स को विकल्प चुनकर 12वीं की परीक्षा देने वाले छात्र भी अब बायोटेक्नोलॉजी को एडीशनल सब्जेक्ट चुनकर मेडिकल की परीक्षा में बैठ सकेंगे और NEET UG क्लियर कर एमबीबीएस, बीडीएस या विदेश से मेडिकल की पढ़ाई कर सकेंगे । कुल मिलाकर यह नई खबर उन छात्रों के लिए काफी फायदेमंद साबित हो सकती है जिन्हें गणित की पढ़ाई करना बेहद पसंद है परंतु वह बनना डॉक्टर चाहते हैं। कुल मिलाकर National Medical Council छात्रों की बेहतरी को देखते हुए उन्हें बेहतर विकल्प उपलब्ध कराने की पूरी कोशिश कर रही है जिसे देखते हुए New Education Policy में काफी सारे बदलाव किए जाने की उम्मीद है।

jeecup

Leave a Comment