Small Saving Scheme 2024: नए साल पर छोटी बचत योजनाओं की ब्याज दरों में 10-20 आधार अंकों की बढ़ोतरी, यहां जाने पूरी जानकारी !

Small Saving Scheme 2024: केंद्रीय वित्त मंत्रालय ने नागरिकों के हित को देखते हुए तथा उनके सुविधा को देखते हुए समय-समय पर विभिन्न योजनाओं में ब्याज दर बढ़ा देती है। ऐसे में नागरिक निवेश करने के लिए और ज्यादा प्रोत्साहित होते हैं और अधिक निवेश की वजह से सरकार को भी योजनाओं के माध्यम से फायदा मिलता है। जानकारी के लिए बता दे प्रत्येक तिमाही में केंद्र सरकार छोटी बचत योजना की ब्याज दरों को बढ़ाती है। इसी सिलसिले के चलते केंद्र सरकार ने हाल ही में छोटी बचत योजनाओं पर ब्याज दर 10 से 20 आधार अंक बढ़ा दी है।

Small Saving Scheme 2024: 10-20 BPS में हुई बढ़ोतरी

जैसा कि हमने आपको बताया केंद्र सरकार प्रत्येक तिमाही में छोटी बचत योजनाओं की बेसिक पॉइंट को बढ़ा देती है।  ऐसे में हाल ही में छोटी बचत योजनाओं के जनवरी से मार्च 2024 के लिए 10 से 20 आधार अंक बढ़ा दिए गए हैं। लगातार यह छठी बार हो रहा है जब इन छोटी बचत योजनाओं की ब्याज दरें बढ़ा दी गई है। साल 2022 में अक्टूबर से छोटी बचत योजनाओं पर ब्याज दर बढ़ाना लगातार शुरू कर दिया गया है और अब तक ब्याज दरों में लगातार वृद्धि  हो  रही है।

3 साल की Small Saving Scheme और SSY की ब्याज दर में हुआ इजाफा

हालहि में 29 दिसंबर को वित्त मंत्रालय ने एक अधिसूचना जारी की जिसमें उन्होंने बताया कि 3 साल की सावधि जमा पर 7.00% से 10 आधार अंक बढ़ा दिए गए हैं जिससे 3 साल के फिक्स्ड डिपॉजिट पर अब 7.01% का ब्याज मिलेगा। वहीं सुकन्या समृद्धि जैसी योजनाओं पर सरकार ने ब्याज दर को 20 आधार अंक बढ़ा दिया है जिससे अब इनकी ब्याज दर 8 % से  8.2 हो गई है।

पाठकों की जानकारी के लिए बता दें कि लघु बचत की ब्याज दर सरकार द्वारा निर्धारित की जाती है । इनमें बढ़ोतरी का निर्धारण आमतौर पर 0 से 100 आधार अंकों के अनुसार किया जाता है। जैसे-जैसे सरकार बाजार में महंगाई दर का आकलन करती है वैसे-वैसे छोटी बचत योजनाओं पर ब्याज दर बढ़ाई जाती है।

वहीं जहां एक ओर केंद्र सरकार के वित्त मंत्रालय ने इन छोटी बचत योजनाओं की ब्याज दरें बढ़ा दी है । इसी के साथ अन्य योजनाओं में ब्याज दर बढ़ाने की मांग की जा रही है । ऐसे में सार्वजनिक भविष्य निधि अर्थात PPF, महिला सम्मान बचत प्रमाण पत्र, किसान विकास पत्र, राष्ट्रीय बचत प्रमाण पत्र अन्य छोटी बचत योजनाओं पर भी ब्याज दर बढ़ाने का विचार किया जा रहा है। कहा जा रहा है कि 2024 के अंतरिम बजट के अंतर्गत इन बचत योजनाओं के ब्याज दरों को बढ़ाने पर विचार किया जाएगा ।

Small Saving Scheme 2024
Small Saving Scheme 2024

Small Saving Scheme 2024 के फायदे

  • पाठकों की जानकारी के लिए बता दें की छोटी बचत योजनाओं पर निवेश करने के विभिन्न फायदे होते हैं । एक तो छोटी बचत योजनाएं निश्चित रिटर्न प्रदान करती है ।
  • वही यह बचत योजनाएं निवेशकों के लिए बहुत ही ज्यादा फायदेमंद साबित होती है ।
  • छोटी बचत योजनाएं पूरी तरह से सरकार द्वारा संचालित होती है जिससे वह जोखिम मुक्त योजनाएं कहलाती हैं ।
  • छोटी बचत योजनाएं सुनिश्चित रिटर्न देती है जिससे निवेशक निश्चित रूप से आनंद ले सकते हैं ।
  • वहीं छोटी बचत योजनाओं में निवेश राशि  250 रुपए से हजार रुपए तक होती है जिससे निम्न वर्गीय परिवार भी इस योजना के अंतर्गत निवेश कर सकते हैं।
  • बजट योजनाओं के माध्यम से केंद्र सरकार निवेशकों को निवेश करने हेतु प्रेरित करती हैं जिससे कि निवेशकों में बचत को लेकर सजगता बनी रहे ।
  • इसी के साथ ही छोटी बचत योजनाओं में मिलने वाले राशि पर आयकर अधिनियम की धारा 80c के अंतर्गत आयकर छूट भी मिलती है।

इस प्रकार इन सभी फायदे को देखते हुए केंद्र सरकार लगातार कोशिश करती है की छोटी बचत योजना के माध्यम से नागरिकों को विभिन्न सुविधाएं पहुंचाई जा सके । इसी बात को देखते हुए प्रत्येक तिमाही में केंद्र सरकार छोटी बजट योजनाओं में नॉमिनल इंटरेस्ट रेट बढ़ा देती है जिससे छोटी बचत योजना में निवेश करने वाले निवेशक उत्साहित रहे और अधिक रिटर्न प्राप्त कर सके।

बचत योजनाओं में ब्याज दर 2023-24 (जनवरी से मार्च 2024 की अवधि)

  • कुल मिलाकर फिलहाल 29 दिसंबर 2023 को लिए गए बचत योजनाओं को लेकर नए फैसले के अंतर्गत तीन वर्षीय सावधि जमा की बचत दर की ब्याज दर को 7 से 7.5% कर दिया गया है।
  • वही सुकन्या समृद्धि योजना की ब्याज दर को 8 से 8.02% कर दिया गया है ।
  • इसके अलावा साधारण बजट योजना की ब्याज दर 4% की रखी गई है।
  • 1 वर्ष की सावधि जमा में ब्याज दर 6.9% ही रहेगी ।
  • दो वर्ष की सावधि ब्याज में ब्याज दर 7% ही रखी गई है ।
  • 5 वर्ष की सावधि जमा पर या ब्याज दर 7.5% रहेगी।
  • मासिक आय खाता योजना के अंतर्गत ब्याज दर 7.4% ही निर्धारित की गई है ।
  • राष्ट्रीय बचत योजना की में 7.7% की ब्याज दर रखी गई है।
  • वहीं किसान विकास पत्र में 115 महीने की परिपक्वता वाले विकास पत्र की 7.5% ब्याज दर रखी गई है।

निष्कर्ष

अन्य योजनाओं में केंद्र सरकार कितनी ब्याज दर बढ़ाएगी और उन्हें लेकर केंद्र सरकार क्या फैसला करने वाली है यह तो आने वाले अंतरिम बजट में ही पता चलेगा।  परंतु फिलहाल केंद्र सरकार 10 से 20 BPS  इन छोटी बचत योजनाओं में बढ़ा चुकी है जिससे निवेशकों को निश्चित रूप से फायदा मिलेगा।

JEECUP

Leave a Comment